आया तेरे दर सहारा देदे दातिए

शेरावालिये माँ ज्योता वालिये,
आया तेरे दर सहारा देदे दातिए,

अपनी ममता के अंचल में माँ तू मुझे छुपाना,
नींद नहीं आती है अपनी गोद में सुलाना,
विनती मेरी सुनले महरा वालिये,
आया तेरे दर सहारा देदे दातिए,
शेरावालिये माँ ज्योता वालिये...

जहा जिधर मैं देखु माँ नजर मुझे तू आये,
चौकठ तेरी आ पहुंचा मैं दुनिया अब न भाये,
अपनी शरण में रख माइये,
आया तेरे दर सहारा देदे दातिए,
शेरावालिये माँ ज्योता वालिये...