चाहे मंगलवार हो चाहे शनिवार

तर्ज - देना है तो दिजीऐ जन्म        

चाहे मंगलवार हो,  चाहे शनिवार
दरबार मे तेरे बाबा होती है जय जयकार,

राम भक्त हनुमान तुम्हारा जग मे डकां बजता है,
सालासर और मेहंदीपुर मे सब के संकट हरता है,
तेरा घर घर मे है मन्दिर, तु संकटमोचनहार,

लाल सिन्दूरी लाता है कोई लाल ध्वजा फहराता है,
लाडू पेडा ओर चूरमा नारियल भेट चढाता है,
तेरे दर्शन करके बाबा करते है जय जयकार,

बेठा है कलियुग मे बाबा भक्तो का रखवाला है,
दुर करे है संकट सबके ये सालासर वाला है,
जो साचें मन से ध्यावे करते है चमत्कार,


संजय तँवर  
00977_9842030954
बिराटनगर नेपाल
download bhajan lyrics (30 downloads)