पैरा दे विच घुंगरू पा के दर ते नचदा आ

पैरा दे विच घुंगरू पा के दर ते नचदा आ,
चरना दे विच बह के माये दिल दा हाल सुनावा

तेरे वाजो दस माँ किसनू दिल दा हाल सुनावा,
तेरे दर न छड़ के माये होर मैं किस दर जावा,
हर पल तनु याद करा तेरा हर पल शुक्र मनावा,
पैरा दे विच घुंगरू पा के दर ते नचदा आ,

राजा अकबर दर तेरे माँ नंगे पैरी आया,
ध्यानु ने भी शीश माये तेरे चरना विच चढ़ाया,
मैं भी भगता संग मिल के तेरी जय जय कार भुलावा,
पैरा दे विच घुंगरू पा के दर ते नचदा आ,

आखिर साह तक नच नच के मैं तनु न मनौना,
इक तमना दीपक दी तेरा दर्शन पौना,
कण कण दे विच देखा तनु अंग संग तनु पावा,
पैरा दे विच घुंगरू पा के दर ते नचदा आ,
download bhajan lyrics (254 downloads)