साई दियां पड़ चिठियाँ

सोहना ते सुनखा बड़ा रूप साई दा,
भोला भाला सूंदर सवरूप साई दा,
साई दियां पड़ चिठियाँ आज भगता ने खीचियाँ त्यारियां,

साई जी दे चरना च मथा टेक के जग दियां ज्योता वाला नूर देख के,
तर जान गियां संगता सारियां,
साई दियां पड़ चिठियाँ आज भगता ने खीचियाँ त्यारियां,

बचे भावे भुड़े दर सारे आऊं गे,
जय साई राम दे जय कारे लाऊँ गे,
घर खुशियां च मार दे ने ताड़ियाँ,
साई दियां पड़ चिठियाँ आज भगता ने खीचियाँ त्यारियां,

साई दी जिन्दरी किनारे ला देयो मणि दियां मेहनत दा मूल पा देयो,
तूद्दे चरना च अरजा गुजारियाँ,
साई दियां पड़ चिठियाँ आज भगता ने खीचियाँ त्यारियां,

श्रेणी
download bhajan lyrics (11 downloads)