शुक्र शुक्र तेरा

शुक्र शुक्र तेरा मैं शुक्र गुजारा पल पल गुरु जी तनु पुकारा,

धन्य धन्य भाग साडे गुरु घर आये ने,
सुते होये भागा नु भी आके जगाये ने,
शुक्र शुक्र तेरा .........

किता उपकार तेरा दाता जगत ते आये थे,
रख्या ख्याल सब दा अपना बना के,
शुक्र शुक्र तेरा......

किरपा निधान गुरु जी सुंदे पुकार हो,
अपना समज के तुसी करदे प्यार हो,
शुक्र शुक्र तेरा