प्यार का इक जहां साथ लाये हो तुम

प्यार का इक जहां साथ लाये हो तुम,
कौन हु कैसी दुनिया से आये हो तुम,

चाँद तारो में भी मुस्कुराते हो तुम,
मेरी रग रग में कैसे समाये हो तुम,
प्यार का इक जहां साथ लाये हो तुम,
कौन हु कैसी दुनिया से आये हो तुम,

सच बता दो कही तुम खुदा तो नहीं,
फूल कलियों में भी मुस्कुराते हो तुम,
प्यार का इक जहां साथ लाये हो तुम,
कौन हु कैसी दुनिया से आये हो तुम,

शुक्र है इस दफा आप मिल तो गये,
मेरी खातिर बशर बन के आये हो तुम,
प्यार का इक जहां साथ लाये हो तुम,
कौन हु कैसी दुनिया से आये हो तुम,

जरा जरा है रोशन फ़क्त आपसे,
कटरे कटरे में देखा समाये हो तुम,
प्यार का इक जहां साथ लाये हो तुम,
कौन हु कैसी दुनिया से आये हो तुम,