मैं बचडा तेरा माँ तू कर मेहरा दियां छावा

मैं बचडा तेरा माँ तू कर मेहरा दियां छावा,
मैं आया दर ते माँ दस होर किधर नु जावा,
मैं बचडा तेरा माँ तू कर मेहरा दियां छावा,

भरे ने खजाने दर तेरे कोई थोड़ न,
इको अर्ज मेरी मैनु खाली मोड़ न,
ऐसी ता मल के बह गये आ माये दर तेरे दियां रावा
मैं आया दर ते माँ दस होर किधर नु जावा,
मैं बचडा तेरा माँ तू कर मेहरा दियां छावा,

नाम तेरे दी माये ज्योत जगाई है,
देना है दर्श इहो आस लगाई है,
तेरे भाज न होर कोई दुःख किस नु बोल सुनावा ,
मैं आया दर ते माँ दस होर किधर नु जावा,
मैं बचडा तेरा माँ तू कर मेहरा दियां छावा,

चढ़ी रहे सदा तेरे नाम दी खुमारी माँ,
करे गुण गान माहि ज़िंदगी  यह साड़ी माँ,
तेरे वंस नु मिल जावन तेरे दर दियां ठंढियां छावा,
मैं आया दर ते माँ दस होर किधर नु जावा,
मैं बचडा तेरा माँ तू कर मेहरा दियां छावा,
download bhajan lyrics (18 downloads)