माँ भंवरा वाली थारो ही आधार रे | जीण माता भजन

म्हारी मैया म्हाने थारो ही आधार रे
माँ भंवरा वाली थारो ही आधार रे
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे
दूजो सहारो हो तो सोचो
और ठिकानों हो तो सोचो
म्हाने तो इक थारो ही आधार
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे

थारे बिन म्हारो कोई नहीं है
तू ही बता म्हारो कुन धनि है
आकर के सम्भालो इकबार
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे
म्हारी मैया म्हाने थारो ही आधार रे
माँ भंवरा वाली थारो ही आधार रे
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे

शहंशाह को गर्व मिटायो
आ सोने को छतर चढायो
चरना में करी माँ पुकार
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे
म्हारी मैया म्हाने थारो ही आधार रे
माँ भंवरा वाली थारो ही आधार रे
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे

म्हारी मैया म्हाने थारो ही आधार रे
माँ भंवरा वाली थारो ही आधार रे
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे
दूजो सहारो हो तो सोचो
और ठिकानों हो तो सोचो
म्हाने तो इक थारो ही आधार
मैं जाऊं तो मैं जाऊं कठे

संपर्क - 09830608619
download bhajan lyrics (345 downloads)