शेरावाली तेरे गुण गावा

मेरी मियां तेरे गुण गावा शेरावाली तेरे गुण गावा,
नाल मैं श्रदा आ के माये तनु चुनियाँ चढ़ावा ,

दर तेरे दी माये बड़ी शान निराली,
नाल जो खुशियां आउंदे,ना जांदे खाली है,

उचियां पहाड़ियां दे विच मियां सूंदर द्वारा है,
सरे जग नु माये बड़ा लगदा प्यारा है,

जी शर्मीला तेरे ते आन खड़ा,
सुखी नु तू जग ते दिता मान बड़ा,

मेरी मियां तेरे गुण गावा शेरावाली तेरे गुण गावा,