भेजा है बुलावा तूने शेरा वालिए

भेजा है बुलावा, तूने शेरा वालिए
ओ मैया तेरे दरबार, में हां तेरे दीदार की मैं आऊंगा
कभी न फिर जाऊँगा...

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए
नी सच्चियाँ ज्योता वालिए, लाटा वालिए

तेरे ही दर के हैं हम तो भिखारी,
जाएं कहा यह दर छोड़ के, हां छोड़ के ।
तेरे ही संग बंधी भक्तो ने डोरी,
सारे जहां से नाता तोड़ के, हां तोड़ के ॥

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए...
भवना वालिए नी माता लाटा वालिए...

फूलों में तेरी ही खुशबु है मैया,
चंदा में तेरी ही चांदनी, हां चांदनी ।
तेरे ही नूर से है नैनो की ज्योतिया,
सूरज में तेरी ही रौशनी, हां रौशनी ॥

शेरावालिये नी माता ज्योता वालिए...
भवना वालिए नी माता लाटा वालिए...
download bhajan lyrics (1090 downloads)