बेश बदल कर नारी बन कर

बेश बदल कर नारी बन कर चले है तन कर श्याम,
सभी को भा गये है ब्रिज में आ गये है,

ओ राधिका मैं तो दीवाना तेरे नाम का,
झूठा बहाना राधा अब न तेरे किसी काम का,
रूप श्याम का तेर नाम का जानू पता गांव का,
सभी को भा गये है ब्रिज में आ गये है,
बेश बदल कर नारी बन कर चले है तन कर श्याम,

ओह श्याम ने रेशम की झोली बनाई,
नीली गुलाभी पीली चुड़ाइया इस में सजाई,
सुर्खी लगाई डारी छाई सज गये कृष्ण कनाई ब्रिज में आ गये है,
सभी को भा गये है....

राधा पुकारे तुझे सुनो मनिहार की,
चूड़ी पहनादो मुझे रंग रंगीले सरकार की,
बात आर की गज़ब नार की देखि नजर प्यार की ब्रिज में आ गये है सब को भा गये है,
ब्रिज में आ गये है,
सभी को भा गये है....

ओ सांवरे गाता बीजं तेरा गीत है तू ही मेरा राग कान्हा तू ही संगीत है,
तू ही मीत है तू ही प्रीत है तू ही मेरी जीत है ब्रिज में आ गये है,
सभी को भा गये है...
श्रेणी
download bhajan lyrics (36 downloads)