चलो रे मन ,श्री वृन्दावन धाम २ रेट़गें , राधे राधे राधे राधे नाम- मिलेंगे , कुंज बिहारी औढ़ के कामर कारी ३

चलो रे मन ,श्री वृन्दावन धाम ॥

रेट़गें , राधे राधे राधे राधे राधे नाम-
मिलेंगे , कुंज बिहारी औढ़ के कामर कारी॥

चलो रे मन ,श्री वृन्दावन धाम ॥

रेट़गें , राधे राधे राध राधेे राधे नाम-
मिलेंगे , कुंज बिहारी औढ़ के कामर कारी॥

सात कोस हम श्री यमुना जी जायेंगें॥
कर स्नान हम जीवन सफल बनाएंगें ॥
तेरे पूर्ण हो सब काम २
रेट़गें वहां राधे राधे राधे राधे राधे नाम-
मिलेंगे वहां कुंज बिहारी औढ़ के कामर कारी ॥

श्री वृन्दावन, नाम की , भारी हैं॥
महलन की ,सरकार श्री राधे जु प्यारी हैं॥
क्यों भटके खामा, खा॥
रेट़गें वहां राधे राधे राधे राधे राधे नाम-
मिलेंगे कुंज बिहारी , औढ़ के कामर कारी॥

श्री वृन्दावन , धाम, श्री बांके बिहारी को॥
इकट्क होत न , दर्शन बाँके बिहारी को ॥
तू जप ले , आठो याम॥
रेट़गें वहां राधे राधे राधे राधे राधे नाम-
मिलेंगे कुंज बिहारी ,औढ़ के कामर कारी ॥
download bhajan lyrics (387 downloads)