मोहे लागी लगन गुरु चरणन की

मोहे लागी लगन गुरु चरणन की |

चरण बिना मुझे कुछ नहीं भाये,
जग माया सब स्वपनन की |

भव सागर सब सूख गया है,
फिकर नाही मोहे तरनन की |

आत्म ज्ञान दियो मेरे सतगुरु,
पीड़ा मिटी भव मरनन की |

मीरा के प्रभु गिरिधर नागर,
आस बंधी गुरु चरणन की |
download bhajan lyrics (243 downloads)