रमक झमक कर आवो गजानन

रमक झमक कर आवो गजानन।
रमक-झमक कर आवो गजानन॥

आप भी आवो देवा रिद्धि सिद्धि लावो॥
सभा में रंग बरसावो गजानन,
रमक-झमक कर आवो गजानन॥

सूंड सूंडालो बाबो दुंद दूंदालो॥
मोदक भोग लगावो गजानन,
रमक-झमक कर आवो गजानन॥

पारवती के देवा पुत्र कहावो॥,
शिवजी के राज दुलारे गजानन,
रमक-झमक कर आवो गजानन॥

शीश पे थारे मुकुट विराजे,
गले पुष्पन की माला गजानन,
रमक-झमक कर आवो गजानन
राम और लक्ष्मण थाने  निशदिन ध्यावे,
चरणों में शीश नवावे गजानन,
रमक झमक कर आवो गजानन॥


लिखने वाला - Chandu Singh Gaur, Bikaner
Phone no.8608095434
श्रेणी
download bhajan lyrics (40 downloads)